प्यार ना होवे

266 Views
Feb 23, 2020

हिज्र दा रोना नसीबो में आये ना, मिल के भी छोडा कभी कोई पे, ना, मेंनू बुहे ते रहन्दे जागे दिन बारिश, जिंदादी बन नूर लागे मुके सुख चैन … इतना केइ इंतेजार ना होवे, हद से जयदा प्यार ना होवे। से जयदा प्यार ना होवे .. जिस्म मेरे दी तू परछावन, पल की भी दोरी होवे मुख्य मार जावां … चना नहीं वजूद मेरा तेरा ते बगैर, सों भया ना मनु आउंदी पाणी लागे जहर। दुब्बी नइना के फेरे प्यार ना होवे, हद से जया प्यार न होवे, हद से जायदा प्यार ना होवे .. इश्क सजदेरी जिमे दिल के कर्ता, ज़ख्म मुनाफ़े दिल मिल गए हम का आया। ठोकराण ‘च दिल रूल डार करे सेण, हनु पानि वंगु डुल्ले मुके सुखे चैन। जाले दी जले खाक सर न होवे, हद से जया प्यार की होवे, हद से जयदा प्यार से होवे .. होवे इक बार बार ना होवे हद से जायदा प्यार यार होवे ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *