अब ना फ़िर से

124 Views
Feb 18, 2020

आब ना दिल को किस की बात हो
अब ना फिर से कभी मोहब्बत हो

आब ना दिल को किस की बात हो
अब ना फिर से कभी मोहब्बत हो

इत्नी भई ख्वाहिश न रही
किसि से चाहत हो

तेरी मुजको ना अब ज़ारोरत हो
तेरी मुजको ना अब ज़ारोरत हो
अब ना फिर से कभी मोहब्बत हो

दरदों के साए में
मिलती अब रहत है
तेरी तमन्ना नाही
तुझसे जुदा हो गया साचा अब जीना है
एक तू जरौरी नहीं
इत्नी भई ख्वाहिश न रही
केसी की हसरत हो

दिल पे तेरी न अब हुकूमत हो
अब न फिर से कभी मोहब्बत हो

अब न दिल को किसी की आदत हो
अब न फिर से कभी मोहब्बत हो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *